Monday, April 27, 2009

अभी मैं जिंदा हूं

बंगलौर बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता फिरोज खान का बीती रात बंगलौर में निधन हो गया है। वे पिछले कुछ समय से कैंसर से पीड़ित थे। वे एक बेहतरीन अभिनेता थे और उन्होंने बॉलीवुड में अपने अभिनय और संवाद अदायगी में खासा नाम कमाया था।
फिरोज खान का जन्म बंगलौर में हुआ था। उनके पुत्र फरदीन खान भी बॉलीवुड फिल्मों में अभिनय कर रहें है।
१९६क् में उनकी पहली फिल्म दीदी रीलिज हुई थी। उनकीं बेहतरीन फिल्मों में कुर्बानी, धर्मात्मा और जाबांज प्रमुख थी। १९६५ में उनके अभिनय से सजीं फिल्म उंचे लोग बेहद पसंद की गई थी। उसके बाद तो उन्होंने कई हिट फिल्मों में काम किया। सन २क्क्७ में उनकें अभिनय से सजीं वेलकम भी काफी हिट हुई थी। इसमें उनका बोला गया डॉयलाग अभी मैं जिंदा हूं काफी पसंद किया गया था।

फ़िल्मी सफ़र
वेलकम 2007, एक खिलाड़ी एक हसीना, जानशीन 2003, यलगार 1992,मीत मेरे मन का 1991, दयावान 1988, जाबांज १९८६,कच्चे हीरे १९८२, कुर्बानी १९८क्, चुनौती १९८क्, दरिंदा १९७७, जादू टोना १९७७, नागिन १९७६, शराफत छोड़ दी मैनें
१1970 से1975के बीच
धर्मात्मा, आ जा सनम काला सोनारानी और लालपरीइंटरनेशनल क्रुक, अंजान राहे, गीता मेरा नाम, खोटे सिक्के, किसान और भगवान, कश्मकस, अपराध, उपासना. एक पहेली,मेला
सफर1960 से 1970 के बीच
आदमी और इंसान, प्यासी शाम, आग, औरत, सीआईडी ९क्९, रात और दिन, वो कोई ओर होगा, मैं वहीं हूं, तस्वीर, आरजू, एक सपेरा एक लुटेरा, उंचे लोग, तीसरा कौन, सुहागन, बहूरानी, टार्जन गोज इंडिया, मैं शादी करने चला, दीदी 1960 पहली फिल्म

Source: भास्कर

2 comments:

अनिल कान्त said...

एक बेहतरीन अभिनेता को हमने खो दिया ....वो बहुत आकर्षक व्यक्तित्व के स्वामी थे ...उनकी ढेर साडी फिल्में बहुत ही बेहतरीन हैं

Udan Tashtari said...

फिरोज खान एक लिविंग लिजेंड थे... हमारी श्रृद्धांजलि!!